कम हुई टिहरी से प्रतापनगर की दूरी,14 साल में तैयार हुआ देश का सबसे लम्बा झूला पुल

Dobra Chanthi Bridge टिहरी और प्रताप नगर को सीधे जोड़ने वाला देश का सबसे लंबा डोबरा-चांठी झूला पुल बनकर तैयार हो गया है और इसका सफल ट्रायल भी पूरा हो गया है जल्द ही इस पुल का उद्घाटन होगा.

14 साल से बांध प्रभावित क्षेत्र प्रतापनगर, थौलधार और उत्तरकाशी के गाजणा पट्टी की दो लाख से अधिक आबादी के आवागमन को बन रहे डोबरा-चांठी पुल पर रविवार को वाहनों का ट्रायल किया गया. इन गावो को पहले टिहरी जिला मुख्यालय तक आने के लिए पहले 100 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ती थी. इस पुल के शुरू होने के बाद अब यह दूरी घटकर आधी रह जाएगी.

इस पुल की लंबाई 440 मीटर और चौड़ाई 7 मीटर है और इसको बनाने में 3 अरब रुपए खर्च हुए इस पुल के निर्माण का सपना 14 साल बाद साकार हुआ इस पुल का निर्माण सन 2006 में शुरू हुआ था. इस पुल के लिए अंतरराष्ट्रीय टेंडर निकाला गया था. जहां 2016 में दक्षिण कोरियाई एक कंपनी ने इस पुल के निर्माण का जिम्मा उठाया और 4 साल में पुल को बनाकर तैयार कर दिया. इस पुल की क्षमता 16 टन भार सहन करने की है और इसकी उम्र 100 साल होने का दावा किया जा रहा है.

मुख्यमंत्री सीएम रावत ने कहा कि जल्द ही जल्द यह पुल जनता को समर्पित कर दिया जाएगा. इस पुल के बन कर तैयार हो जाने से लगभग तीन लाख की आबादी लाभान्वित होगी.

uttarnews: