राजस्थान में करौली जिले में मंदिर की जमीन को लेकर दो पक्षों के बीच हुए वाद विवाद में पुजारी को पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया गया पुजारी की इलाज के दौरान मौत हो गई. पुजारी का नाम बाबूलाल था. ANI ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि बाबूलाल अपनी मौत से पहले पुलिस को बयान दिया है कि कैलाश मीणा और उसके बेटे ने उसकी जमीन पर कब्जा करने की कोशिश की इस दौरान बाबूलाल और कैलाश मीणा के बीच लड़ाई हो गई और उन्होंने उन्हें आग के हवाले कर दिया

पुलिस ने पुजारी पर पेट्रोल डालने वाले मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और अन्य और उपयोग की जांच जारी है. बताया जा रहा है कि यह विवाद मंदिर की जमीन को लेकर हुआ पुलिस ने घटनास्थल से कई सबूत जुटाए हैं. बाबूलाल के रिश्तेदारों का कहना है कि आरोपी का पूरा परिवार इस हत्याकांड में शामिल है साथ ही उन्होंने पुलिस से जल्दी इस पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है और कहा कि पुलिस अगर लापरवाही करती है तो ब्राह्मण समाज इसके खिलाफ प्रदर्शन करेगा.

पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने ट्वीट करते हुए घटना पर दुख जताया और वसुंधरा ने कहा कि राज्य में महिलाएं, बच्चे, बूढ़े, दलित, व्यापारिक कोई भी सुरक्षित नहीं है.

0 Comments

No Comment.