football coach

रानीखेत – बहुत समय से बीमार चल रहे 78 वर्षीय फुटबॉल कोच इदरीस बाबा ने आज 12 सितम्बर की शाम राजकीय अस्पताल रानीखेत में अंतिम सांस ली है. उनके निधन की खबर सुनते ही उनके शिष्यों और नगर में उनके प्रशंसको में शक की लहार व्यापत हो गयी.

रानीखेत के जरूरी बाजार निवासी 78 साल के इदरीश बाबा ने अपनी जिंदगी में कई उपलब्धियां हासिल कीं.इदरीस बाबा फुटबॉल कोच थे और उन्होंने अनेको खिलाड़ियों को तराश कर ऊँचे मुकाम तक पहुंचाया था. हाल ही में उन्हें देहरादून फुटबाल अकेडमी ने 2020 के उत्तराखंड फुटबाल रत्न अवार्ड बेस्ट फुटबाल कोच और प्रमोटर के अवार्ड से सम्मानित किया गया था.

इदरीश बाबा ने जिन खिलाड़ियों को तराशकर नेशनल लेवल तक पहुंचाया उनमें पुष्कर अधिकारी (यूनिवर्सिटी और नेशनल), प्रताप सिंह बिष्ट (नेशनल), दिनेश भैसोड़ा (नॉर्थ जोन), अब्दुल रिजवान (नेशनल), विशन सिंह बिष्ट (नेशनल), दीवान राणा (स्टेट), मान सिंह परमार (नेशनल), नरेंद्र पुरी (कमांड स्तर), मनोज भट्ट (नेशनल), नजीर खान (स्टेट), कुंदन सिंह (नेशनल), जतिन जुयाल (नेशनल), अमन कन्नौजिया (तीन बार नेशनल), पंकज अधिकारी (संतोष ट्रॉफी), त्रिभुवन असवाल (नेशनल) और परमेश्वर कांडपाल (संतोष ट्राफी) जैसे कई नाम शामिल हैं.

 

0 Comments

No Comment.