mahesh negi
  • उत्तराखंड की द्वाराहाट विधानसभी सीट से बीजेपी विधायक है महेश नेगी
  • विधायक की पत्नी ने एक महिला पर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया, केस दर्ज
  • आरोपी महिला ने विधायक नेगी पर ही यौन शोषण के गंभीर आरोप लगाए
  • आरोपी महिला ने विधायक पर 2 साल से यौन शोषण का आरोप लगाया
  • आरोपी महिला अपनी बच्ची का DNA विधायक के DNA से मैच करवाना चाहती है
  • विधायक की पत्‍नी ने अब आरोपियों  की सुरक्षा की मांग उठाई
  • कांग्रेस ने इस पूरे मामले की गंभीरता से जांच करने की मांग की
  • महिला ने एसएसपी को दी 5 पेज की तहरीर

अल्मोड़ा- द्वाराहाट के विधायक महेश नेगी की पत्नी रीता नेगी ने देहरादून की एक महिला पर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया है. रीता नेगी ने देहरादून निवासी एक महिला और उसके पति समेत परिवार के चार लोगों के खिलाफ नेहरू कॉलोनी थाने में मुकदमा दर्ज कराया है.

विधायक  की पत्नी रीता नेगी ने कहा कि महिला ने विधायक से संबंध होने की बात कही और विधायक की पत्नी से पांच करोड़ रुपये मांगे हैं और महिला लगातार फोन कर उनके राजनीतिक करियर को बर्बाद करने की धमकियां दे रही थी.

आरोपी महिला ने वीडियो के जरिए बीजेपी विधायक पर 2 साल से यौनशोषण का आरोप लगा दिया. महिला का आरोप है कि विधायक महेश नेगी के साथ उसके रिश्ते हैं और दोनों की एक बेटी भी है. उन्होंने स्थिति साफ करने के लिए DNA टेस्ट की भी मांग की है.

एसएसपी कार्यालय में दी गयी तहरीर में महिला ने आरोप लगाया है कि विधायक महेश नेगी ने उस से शादी से पहले और उसके बाद शारीरिक सम्बन्ध बनाये और महिला को अपने साथ दिल्ली, हिमांचल, हल्द्वानी, अल्मोड़ा, नेपाल ले गए थे. जहाँ विभिन्न होटलों में कमरा लेकर महिला के साथ जबरन लगातार दुष्कर्म किया

कांग्रेस ने इस पूरे मामले की गंभीरता से जांच करने की मांग की है. उत्तराखंड पीसीसी चीफ प्रीतम सिंह ने विधायक पर आरोप लगाने वाली महिला के वीडियो की भी जांच की मांग की है. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि आखिर भाजपा विधायक DNA टेस्ट कराने से क्यों घबरा रहे हैं.

द्वाराहाट विधायक की पत्नी रीता नेगी ने मामले से जुड़े आरोपियों की सुरक्षा की मांग को लेकर डीआईजी अरुण मोहन जोशी को पत्र लिखा है. पत्र में उन्होंने दावा किया कि महिला, कई राजनीतिक व्यक्तियों के संपर्क में है. उसने कुछ राजनीतिक लोगों को पत्र भी लिखा है. रीता ने कहा कि उनके पति के विधायक होने के चलते विपक्ष के लोग राजनीतिक द्वेष के कारण महिला के साथ कुछ गलत कर उसका आरोप उन पर लगा सकते हैं. रीता ने महिला समेत अन्य आरोपियों की सुरक्षा की मांग की है.

आरोप लगाने वाली पीड़िता महिला ने 15 अगस्त को एसएसपी देहरादून को एक पत्र विस्तार से सारी घटना का जिक्र करते हुए पांच पेज की तहरीर एसएसपी को सौंपी है. इस पूरे मामले पर डीआईजी अरुण मोहन जोशी का कहना है कि जांच की जा रही है. जांच के आधार पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी.

0 Comments

No Comment.